loanpandit

बकरी पालन लोन क्या है? इसके लिए कैसे आवेदन करें?

Bakri Palan

Check Your Eligibility​

    ग्रामीण इलाकों में पालतू पशु दैनिक जीवन का मुख्य हिस्सा होते है। गाय, भैंस, बकरी, मुर्गियां, भेड़ आदि यह प्रमुख पशु है जिनका इस्तेमाल ग्रामीणवासी अपनी विभिन्न जरूरतों को पूरा करने के लिए करते है। देखा जाए तो ग्रामीण अर्थव्यवस्था में योगदान देने में इन पालतू पशुओं के जरिये की गयी व्यापारिक गतिविधियों की मुख्य भूमिका है।

    पालतू पशुओं के इस्तेमाल से इन व्यापारिक गतिविधियों को प्रोत्साहन देने के लिए भारत सरकार ग्रामीणों को उनका व्यापर बढ़ाने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करती है। आज अपने इस आर्टिकल मे इन्ही वित्तीय मदद को केन्द्रित करते हुए Bakri Palan Loan (Goat Farming Loan) के विषय में चर्चा करेंगे और बताएँगे की बकरी पालन लोन के क्या उदेश्य है, इस लोन को कहाँ से प्राप्त लिया जा सकता है और इसके लिए किस प्रकार की योग्यता और दस्तावेजों की जरुरत होगी।

    बकरी पालन लोन क्या है?

    बकरी पालन लोन (Goat Farming Loan) एक ऐसा बिज़नेस लोन है जो कि बकरी पालने वाले ग्रामीणों को बकरी से जुड़े व्यापर का विस्तार करने के लिए दिया जाता है। इस लोन के जरिये ग्रामीण बकरी पालक बकरी की खरीदारी, उनके रहने के लिए शेड निर्माण, बकरी पालन में इस्तेमाल होने वाले जरुरी उपकरण और उनके रखरखाव से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर पर आने वाले खर्चे को पूरा कर सकते है। विभिन्न बैंकों एवं फाइनेंस कम्पनियों नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूलर डेवलपमेंट (NABARD) के दिशानिर्देशों के अंतर्गत लोन देते है। 

    Bakri Palan Loan के क्या उदेश्य है?

    Bakri Palan Loan एक ऐसी लोन स्कीम है जिसके जरिये उन बकरी पलकों को लोन मिलता है जो बकरियों के मॉस और उसके दूध से सम्बंधित व्यवसाय करते है। बकरी पालन लोन के निम्नलिखित उदेश्य है।

    ग्रामीण इलाकों बकरी पालकों को आसानी से लोन दिलाना

    Bakri Palan Loan के जरिये बकरी व्यवसाय करना ग्रामीण इलाकों में एक लाभकारी व्यवसाय होता है। अन्य बिज़नेस के अपेक्षा इस बिज़नेस को शुरू करने में थोडा कम खर्च आता है। बकरी के मांस, दूध और अन्य उत्पादों की मांग लागातार बनी रहती है इसलिए इस बिज़नेस में व्यवसाय शुरू करना फायदे का सौदा होता है लेकिन कई बार इस कम लागत वाले व्यापार को कर पाना भी कई लोगों के लिए संभव नहीं होता इसलिए सरकार के द्वारा ग्रामीण इलाकों में Bakri Palan को बढ़ावा देने के लिए लोन स्कीम शुरू की गई है।

    बकरी पालन व्यवसाय में विस्तार करना 

    बकरी पालन व्यवसाय का पहले से बड़े स्तर पर विस्तार करने के लिए ग्रामीण लोगों को कई तरह की वित्तीय समस्याएँ हो सकती है इस समस्या के समाधान के लिए लोन के द्वारा ग्रामीण बकरी पालकों को  वित्तीय समर्थन दिया जाता है ताकि वें अपने व्यवसाय को बढ़ाने के लिए बकरियों की खरीद, जरुरी उपकरणों, दवाइयों, चारे और कर्मचारीयों के वेतन आदि में निवेश कर सके।

    ग्रामीण आर्थिक विकास में योगदान

    बकरी पालकों को लोन की सुविधा देकर भारत सरकार का प्रयास है की ग्रामीण क्षेत्रों के लोग आत्मनिर्भर बने और उनका योगदान अर्थव्यवस्था में हो। 

    NABARD से बकरी पालन लोन कैसे मिलेगा 

    भारत सरकार के अधीन NABARD शीर्ष सरकारी और प्राइवेट बैंकों के द्वारा बकरी पालन लोन दिया जाता है। नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूलर डेवलपमेंट (NABARD) ग्रामीण इलाकों में एग्रीकल्चर और उनसे जुड़ी परियोजनाओं, परिचालन और उनके विस्तार आदि के लिए लोन की सुविधा प्रदान करता है इसके अलावा इस बैंक का काम ग्रामीण इलाकों के  नीतिगत मामलों की देखरेख करना भी है। इस लोन के जरिये बकरी पालक कम पूँजी होने के बावजूद बिज़नेस लोन प्राप्त करके अपना व्यवसाय शुरू कर सकते है।

    बकरी पालन लोन (Bakri Palan Loan) के लिए आवेदन कैसे करें?

    Bakri Palan Loan ke liye Apply kaise kare
    • Step-1 सबसे पहले आप अपने पास NABARD की ब्रांच का पता लगाए।
    • Step-2 ब्रांच में जाकर Bakri Palan Loan के लिए एप्लीकेशन फॉर्म लें और सभी आवश्यक विवरणों के साथ आवेदन पत्र को भरें।
    • Step-3 इसके बाद आपके भरे गए फॉर्म के साथ अपने सभी जरुरी डाक्यूमेंट्स को अटेच कर दे और उसे बैंक में जमा करा दें।
    • Step-4 बैंक आपके द्वारा दिए गए डाक्यूमेंट्स को सत्यापित करेगा और जैसे ही आपके डाक्यूमेंट्स अप्रूव होंगे लोन अमाउंट आपके बैंक खाते में ट्रान्सफर कर दिया जाएगा।

    Goat Farming Loan लेने के लिए योग्यता 

    NABARD बैंक से बकरी पालन लोन (Goat Farming Loan) लेने के लिए निम्नलिखित योग्यताओं का होना जरूरी है।

    1. भारतीय नागरिकता
    2. Goat Farming Unit जहाँ स्थापित है वहां का निवास स्थान
    3. बकरी पालन की जानकारी और अनुभव
    4. बकरी पालक की आयु 18-60 वर्ष होनी चाहिए।

    बकरी पालन लोन लेने के लिए जरुरी दस्तावेज

    1. आइडेंटिटी प्रूफ (जैसे आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, या पासपोर्ट)
    2. एड्रेस प्रूफ: (जैसे आधार कार्ड, वोटर आईडी या यूटिलिटी बिल)
    3. Bakri Palan Business Plan
    4. 6 महीनों की बैंक स्टेटमेंट
    5. Goat Farming Unit की फोटोग्राफ

    बैंक से बकरी पालन लोन के लिए कैसे अप्लाई करें

    Bank se bakri Palan Loan kaise le

    Bakri Palan को बढ़ावा देने के लिए  NABARD बैंक के अलावा कई सारे बैंकों के माध्यम से भी लोन दिया जाता है। अगर आपके नजदीक सरकारी स्कीम देने के लिए NABARD की ब्रांच उपलब्ध नहीं है तो आप नीचे बताये गए स्टेप्स को फॉलो करके बैंकों में आवेदन फॉर्म जमा करा कर बकरी पालन लोन (Goat Farming Loan) ले सकते है।

    • Step-1 सबसे पहले आप अपने पास ऐसे बैंक का पता लगाये जो Bakri Palan Loan देता हो।
    • Step-2 ब्रांच में जाकर बकरी पालन लोन  (Goat Farming Loan) के लिए एप्लीकेशन फॉर्म लें और सभी आवश्यक जानकारियों के साथ आवेदन पत्र को भरें।
    • Step-3 इसके बाद आपके भरे गए फॉर्म के साथ अपने सभी जरुरी डाक्यूमेंट्स को अटेच कर दे और उसे बैंक में जमा करा दें।
    • Step-4 बैंक आपके द्वारा दिए गए डाक्यूमेंट्स को सत्यापित करेगा और जैसे ही आपके डाक्यूमेंट्स अप्रूव होंगे लोन अमाउंट आपके बैंक खाते में ट्रान्सफर कर दिया जाएगा।

    बैंक से लोन लेने के लिए योग्यता 

    1. भारतीय नागरिकता
    2. Goat Farming Unit जहाँ स्थापित है वहां का निवास स्थान
    3. बकरी पालन की जानकारी और अनुभव
    4. बकरी पालक की आयु 21-60 वर्ष होनी चाहिए
    5. गुड क्रेडिट स्कोर
    6. आय का स्त्रोत

    बैंक से बकरी पालन लोन लेने के लिए दस्तावेज

    • आइडेंटिटी प्रूफ (जैसे आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, या पासपोर्ट)
    • एड्रेस प्रूफ: (जैसे आधार कार्ड, वोटर आईडी या यूटिलिटी बिल)
    • Bakri Palan Business Plan
    • 6 महीनों की बैंक स्टेटमेंट
    • Goat Farming Unit की फोटोग्राफ 

    बकरी पालन लोन के क्या फायदें है?

    1. Bakri Palan का व्यवसाय शुरू करने के लिए पूँजी का निवेश बहुत ही कम लगता है। सामान्य व्यक्ति आसानी से इस बिज़नेस की शुरुआत कर सकता है।
    2. Bakri Palan Busines me आवास के लिए ज्यादा प्रबंधन की जरुरत नहीं पड़ती शरीर का आकर छोटा होने के कारण आसानी से इनके शेड का प्रबंधन किया जा सकता है।
    3. बकरियों में अन्य मवेशियों की तुलना में बीमारियाँ कम पाई जाती है इसलिए इन से जुड़े व्यवसाय करने में कोई समस्या नहीं आती।
    4. बकरियां 14 महीने में दो बार गर्भवती हो सकती है और प्रत्येक बार में  2-3 बच्चे पैदा कर सकती है जिस कारन ज्यादा मुनाफे की सम्भावना है।
    5. बकरी के दूध प्रोटीन का एक सस्ता आप्शन है और इसके दूध को कई बीमारियों में आमतौर पर दिया जाता है लोग बकरी का दूध खरीदना भी पसंद करते है।
    6. गरीब लोगों और महिलाओं के लिए बकरी पालन एक सस्ता उद्यम है।

    10 बकरी पर कितना लोन मिल सकता है?

    10 Bakri pe kitna loan milta hai- Bakri Palan Loan

    Bakri Palan Yojana के अंतर्गत लोन के लिए कई बैंकों, सरकारी योजनाओं और वित्तीय संस्थानों के द्वारा लोन राशि दी जा रही है। सभी योजनाएं और वित्तीय बैंक बकरी पालक की बकरियों की संख्या और आवेदक की योग्यता के आधार पर अलग-अलग दरों पर लोन अमाउंट तय करते है इसलिए अगर आप यह जानना चाहते है कि आपको 10 बकरियों पर कितना लोन मिलेगा तो आपको अपने बैंक या वित्तीय संस्थान के पास जाकर संपर्क करना होगा। आप विभिन्न योजनाओं और बैंकों के ऑफर्स की तुलना करके अपने लिए बेस्ट लोन का चुनाव कर सकते है।   

    बकरी पालन लोन-Uttar Pradesh(UP) 

    उत्तर प्रदेश में बकरी पालन करने वाले बकरी पालकों को आर्थिक रूप से सक्षम बनाने के लिए सारकार की तरफ से कई कदम उठाए गए है। सरकार लगातार ऐसे लोगों की मदद करने के लिए उन्हें फिनांशियल सपोर्ट कर रही है इसके साथ ही बकरी पालन व्यवसाय को बड़े स्तर पर प्रोत्साहित किया जा रहा है। सरकार की तरफ से जो वित्तीय सहायता मिल रही है उसका लाभ उठाते हुए बकरी पालकों को ये फायदे होंगे। 

    1. अपने बकरी पालन व्यवसाय का विस्तार करने के लिए बकरी पालक लोन ले सकेंगे।
    2. बकरी पालन व्यवसाय को बढाने के लिए बकरियों की खरीद साथ ही उनके लिए उपकरण, शेड, चारे और दवाइयों में निवेश कर पाएंगे।
    3. बकरी पालकों की जरुरत के हिसाब से इसमें उनकों 1 लाख से  25 लाख रूपये का लोन अमाउंट दिया जाता है।
    4. Loan Amount पर 4% की सब्सिडी मिलती है।
    5. Loan को चुकाने के लिए 7 सालों का समय भी मिलता है।

    बकरी पालन लोन- Rajasthan 

    राजस्थान सरकार ने बकरी पालन व्यवसाय को आर्थिक सहायता और बढ़ावा देने के लिए लोन योजना शुरू की है। इस योजना को योजना शुरू की है। इस योजना का कार्यान्वन राजस्थान पशुधन विकास बोर्ड (आरएलडीबी) के द्वारा किया जाता है। राज्य सरकार द्वारा मिलने वाली इस योजनाना के लाभ निम्नलिखित है।

    1. बकरी फार्म को स्थापित करने के लिए उसकी लागत पर 50% तक की सब्सिडी मिलती है। सब्सिडी का अधिकतम अमाउंट 1.5 लाख होता है।
    2. लोन अमाउंट का इस्तेमाल बकरी पालन व्यवसाय को बढाने के लिए बकरियों की खरीद साथ ही उनके लिए उपकरण, शेड, चारे और दवाइयों में निवेश कर पाएंगे।

    बकरी पालन लोन-Bihar

    बिहार सरकार ने भी अन्य राज्यों की तरह अपने राज्य में बकरी पालन करने वाले बकरी पलकों को वित्तीय सहायता  प्रदान करने के लिए इस Bakri Palan Loan Yojna की शुरुआत की है। इस योजना का कार्यान्वन बिहार स्टेट लाइवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी (बीएसएलपीएस)इस योजना का लाभ उठाकर ग्रामीण बकरी पालकों को यह लाभ मिलेंगे। 

    1.अपने बकरी पालन व्यवसाय का विस्तार करने के लिए बकरी पालक लोन ले सकेंगे
    2. लोन अमाउंट का इस्तेमाल बकरी पालन व्यवसाय को बढाने के लिए बकरियों की खरीद साथ ही उनके लिए उपकरण, शेड, चारे और दवाइयों में निवेश कर पाएंगे।
    3. Bakri Palan Loan Yojana के तहत 50,000 से 10 लाख रूपये का लोन मिलेगा।
    4. प्रति वर्ष लोन के ब्याज पर 5% की रियायत।
    5. Loan को चुकाने के लिए 7 सालों का समय भी मिलता है। 

    FAQ

    Q.1 बकरी फार्म पर लोन कितना मिल सकता है?

    एक बकरी फार्म को चलाने के लिए उस पर कई प्रकार के उपकरणों, चारे और दवाइयों आदि से जुड़े खर्चे शामिल होते है. इसलिए विभिन्न बैंकों, वित्तीय कम्पनियों और सरकार की मदद से इस व्यवसाय के लिए 1 लाख से 10 लाख रूपये का लोन मिल सकता है। 

    Q.2 बकरी फार्म में कितना फायदा है? 

    बकरी पालन से कमाई में बहुत ही अच्छा मुनाफा है, क्योंकि इसमें बहुत ही कम लागत लगती है बकरी के मांस और इसके दूध की बाजार में बहुत मांग है। यदि आपके पास 10 बकरें (मेल) है तो औसतन 1,00,000- 1,20,000 लाख की कमाई कर सकते है इसके अलावा यदि 10 बकरी (फीमेल) है तो औसतन 1,20,000- 1,50,000 लाख की कमाई कर सकते है।

    Q.3 एक बकरी/ बकरे की औसत कीमत कितनी होती है?

    बकरी की कीमत उनकी नस्ल के अनुसार अलग-अलग हो सकती है कई बकरियां तो अपनी बाजार में विशेष अवसरों पर बहुत महंगी बिक्री है बकरी के मांस के रूप में इनकी मांग ज्यादा है. प्रतिकिलों के हिसाब से एक बकरी/बकरा की कीमत 250-350 रूपये प्रति कि.ग्रा. होती है. बकरी का वजन आमतौर पर 20-25 किलों होता है इस हिसाब से बकरी की कुल कीमत 7000-8000 रूपये होती है। 

    Q.4 कौन सी बकरी पालना चाहिए?

    बकरियों की सिरोही नस्ल, उस्मानाबादी नस्ल, बीटल नस्ल और जमुनापारी कुछ मुख्य प्रकार की नस्लें है जिन्हें बकरी पालक पालते है. लेकिन इन सब नस्लों में सबसे ज्यादा बीटल और जमुनापारी को पाला जाता है. जमुनापारी बहुत ही कम चारे में ज्यादा दूध देती है इसलिए यह बकती सबसे ज्यादा उत्तम मानी जाती है। 

    Q.5 एक बकरी प्रतिदिन कितना चारा खाती है?

    बकरियां घास या रूहगे का चारा खाती है. एक साधारण बकरी एक दिन में 1 से 2 किलों घास खा जाती है लेकिन अगर बकरी दूध देती है तो वह एक दिन में 3-4 किलोग्राम घास खाती है।

    Conclusion 

    ग्रामीण इलाकों में बकरी पालन लोन (Goat Farming Loan) के जरिये बकरी व्यवसाय की शुरुआत एक फायदे का व्यवसाय है। सरकार की तरफ से इस व्यवसाय और ग्रामीण लोगों की आमदनी बढ़ाने के लिए बकरी लोन (Goat Farming) द्वारा सपोर्ट किया जा रहा है। कई बार ग्रामीण लोग बकरी पालन व्यवसाय की शुरुआत करने के बारे में जरुर सोचते है लेकिन उनके सामने समस्या तब आती है जब उन्हें बकरी पालन से जुड़े फ़ार्म को संभालना पड़ता है और मार्किट से जुडी जानकारियों के बारे में समझना होता है। 

    इस समस्या के समाधान के लिए सरकार की तरफ से ग्रामीण लोगों को व्यवसाय के लिए भी प्रसिक्षण देती है। बकरी पालन लोन योजना एक बेहतर योजना है जिसके जरिये ग्रामीण अर्थवयवस्था को सुधारा जा सकता है। इसके साथ ही ग्रामीण लोगों की आमदनी में भी वृद्धि हो सकती है। 

    Last Updated on 12 months

    Check Your Eligibility​

      Vishal Kumar

      Vishal is a content writer who writes articles on various topics and is currently working as a writer on loan, banking, and business related financial topics on LOANPANDIT website. Vishal works to explain financial concepts to the readers in a very simple way through his attractive and informative articles. Their goal is to empower people to make financial decisions.

      Latest News

      You cannot copy content of this page

      Take The First step Towards Your Goals: Apply for a Personal Loan

      ✅Minimum Documents    ✅No Collateral     ✅Instant Disbursal