loanpandit

Transport Business कैसे शुरू करें in Hindi

Transport Business plan

Check Your Eligibility​

    पिछले कुछ दशकों में भारत की अर्थव्यवस्था में उच्च वृद्धि देखी गयी है। ट्रांसपोर्ट सेक्टर में ऑटोमोबाइल के प्रोडक्शन, सप्लाई और उनसे जुड़ी सर्विस का भी भारत की इकॉनमी बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। Transport Business के द्वारा वस्तुओं, यात्रियों को एक स्थान से दुसरे स्थान तक पहुंचाने में काफी मदद मिली है। आज भारत में मूवर्स एंड पैकर्स, कार रेंटल, बाइक रेंटल, फ़ूड डिलीवरी, राइड, प्रोडक्ट डिलीवरी, ग्रोसरी डिलीवरी और कुरियर सर्विसेज जैसे Transport Business Ideas आम हो चुके है।

    Transportation Business आज कई इंडस्ट्रीयों की जरुरत बन गया जिससे बहुत अच्छा लाभ कमाया जा सकता है। इस बिजनेस की शुरुआत करने के लिए आपको ट्रांसपोर्टेशन इंडस्ट्री के बारे में बहुत अच्छे से जानकारी होनी चाहिए। बिजनेस की शुरुआत करने से पहले आपको सटीक प्लानिंग की आवश्यकता होगी। बिजनेस की प्लानिंग किस तरह से की जाए इसके लिए हम आज इस आर्टिकल में आपको Transport Business Plan बनाने के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। इसलिए आप आगे बताई जाने वाली जानकारियों को ध्यान से पढ़ें।  

    एक प्रभावशाली Transport Business Plan कैसे बनाएं 

    1.रिसर्च और कांसेप्ट से शुरुआत करें

    सबसे पहले तो आप ऊपर बताये गए  Transport Business Ideas में से अपने लिए कोई बेहतर आईडिया का चुनाव करें। बिजनेस की शुरुआत एक सटीक रिसर्च के साथ करना सफलता के लिए जरुरी है। आपने जो ट्रांसपोर्ट बिजनेस आईडिया चुना है उससे सम्बंधित मार्किट की अच्छे से रिसर्च करें, पता लगाए कि वर्तमान में उस बिजनेस में क्या चल रहा है, क्या परिणाम आ रहे, बिजनेस का स्वरूप कैसा है, इन्वेस्टमेंट कितनी है।

    इसके अलावा यह भी पता लगाए कि मार्किट की डिमांड और सप्लाई क्या है, किस तरह के लाइसेंस और परमिट लेने की आवश्यकता पड़ेगी। इन सब चीजों की जानकारी इकठ्ठा करें। रिसर्च करने के बाद अपने बिजनेस के गोल और ऑब्जेक्टिव तय करें।

    2. प्रोजेक्शन कॉस्ट तैयार करें 

    ट्रांसपोर्ट बिजनेस के शुरूआती वर्षों में आपको हर प्रकार के खर्चे का रिकॉर्ड अपने आपस रखना पड़ेगा। कास्ट प्रोजेक्शन आपके वर्किंग कैपिटल अमाउंट को तैयार करने में मदद करेगा।ऐसा करने से आप अपने बिजनेस के लिए जरुरी फंड्स का इंतजाम कर सकते है और आपका बिजनेस कभी भी वित्तीय परेशानी से नहीं जूझेगा। भाविष्य मी आने वाले आर्थिक गतिरोध की वजह से आपके पास उस से उभरने के लिए रणनीति होगी। अगर शुरूआती वर्ष में बिजनेस में लोस हो जाए तो घबराएं नहीं बल्कि आप OneNDF Business Loan लेकर अपनी वित्तीय समस्याओं का समाधान कर सकते है।

    3.बिजनेस में टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करें

    Use Technology for Transport Business

    आजकल बिजनेस को ठीक से चलाने के लिए डाटाबेस का इस्तेमाल किया जा रहा है। डाटा का एनालाइज, टेक्नोलॉजी के इस्तेमाल और कैल्क्युलेटेड प्रेडिक्शन किसी भी बिजनेस के मजबूत स्ट्रक्चर के लिए जरुरी हो गए है। इसी तरह ट्रांसपोर्ट बिजनेस में भी ऐसी टेक्नोलॉजी इस्तेमाल की जाती है। उदहारण के लिए अगर आप अपनी एक कैब सर्विस को लॉन्च करना चाहते है तो आपको उसके लिए जरुरी परमिट, रजिस्ट्रेशन, कानूनी धाराएं, पालिसी, कमर्शियल रजिस्ट्रेशन, लॉजिस्टिक्स और इन सबसे चीजों से जुदा डाटाबेस उपलब्ध होना चाहिए ताकि तुरंत जरुरत पड़ने पर कोई भी परेशानी ना हो।

    4. ट्रांसपोर्ट बिजनेस के लिए जरुरी लाइसेंस / परमिट 

    ट्रांसपोर्ट बिजनेस के में कुछ जरुरी लाइसेंस और परमिट की आवश्यकता होती है। ये सभी डाक्यूमेंट्स बिजनेस के प्रकार, बिजनेस लोकेशन और उसके साइज़ के आधार पर निर्भर करते है। उदाहरण के तौर पर एक कैब बिजनेस में ड्राइविंग लाइसेंस, पॉल्यूशन सर्टिफिकेट और क्रॉस बॉर्डर परमिट जैसे मुख्य डॉक्यूमेंट होते है। इसके अलावा यह सभी डाक्यूमेंट्स विभिन्न क्षेत्रों में अलग अलग हो सकते है। एक ट्रांसपोर्ट बिजनेस का मालिक  होने के नाते आपके पास नीचे लिखें सभी जरुरी ऑथराइजेशन डॉक्यूमेंट होने चाहिए।

    5. बिजनेस रजिस्ट्रेशन डॉक्यूमेंट

    Transport Business important documents

    आपके पास आपके बिजनेस के रजिस्ट्रेशन से जुड़े डाक्यूमेंट्स होना जरुरी है। इसमें MOA, AOA, सर्टिफिकेट ऑफ़ इनकारपोरेशन, ट्रेड लाइसेंस और MSME रजिस्ट्रेशन जैसे डाक्यूमेंट्स आते है।

    • प्रॉपर्टी के पेपर्स

    अगर आपने कमर्शियल तौर वाहनों को पार्क करने के लिए कोई अलग से प्रॉपर्टी खरीदी है तो आपको उसके सेल डीड और रजिस्ट्रेशन से जुड़े अन्य डॉक्यूमेंट तैयार रखने चाहिए।

    • रेंट अग्रीमेंट

    अगर अपने वाहनों को पार्क करने के लिए आप किसी अन्य की जमीन रेंट के तौर पर इस्तेमाल कर रहे है तो प्रॉपर्टी ओनर से NOC लेने की जरुरत पड़ेगी इसके अलावा रेंट अग्रीमेंट डॉक्यूमेंट में अपने बिजनेस से रिलेटेड जानकारी अवश्य दें।

    • जीएसटी रजिस्ट्रेशन

    टर्नओवर की निर्धारित सीमा से अधिक कारोबार करने वालों के लिए जीएसटी पंजीकरण अनिवार्य किया जा रहा है।

    • TAN और PAN रजिस्ट्रेशन

    व्यापार को संचालित करने के लिए TAN और PAN अनिवार्य रूप से आवश्यक है।

    • ट्रेड लाइसेंस

    यह स्थानीय अधिकारियों से प्राप्त किया जाता है और उन संस्थाओं को दिया जाता है जो हानिकारक रसायनों के उत्पादन और व्यवहार में शामिल नहीं हैं। यदि आपके पास विभिन्न स्थानों पर कार्यालय हैं तो आपके पास एक अलग लाइसेंस होना चाहिए।

    • फायर NOC

    अपने बिजनेस वर्कप्लेस के लिए अपने नजदीकी फायर स्टेशन से NOC प्राप्त करें।

    • पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड से परमिट

    बिजनेस एक्टिविटी के द्वारा जनरेट हुए वेस्ट मेटेरिअल के निपटान के लिए इस तरह के परमिट की आवश्यकता पड़ती है। ट्रांसपोर्ट से जुड़े बिजनेस में अलग तरह के प्रदुषण सर्टिफिकेट एके जरुरत पड़ती है जो आपको पहले ले लेना चाहिए।

    6. वाहन की खरीदारी और उसका इंश्योरेंस

    वाहनों का इंश्योरेंस ट्रांसपोर्ट बिजनेस प्लान का सबसे जरुरी हिस्सा होता है, यह Transportation Business की सफलता और असफलता का कारण बन सकता है। आपको अपने बिजनेस की जरूरतों के हिसाब से एक सही वाहन खरीदना चाहिए। अगर शुरुआत में महंगे वाहन खरीदने में आपको समस्या आ रही है तो आप कम बजट में छोटे वाहन खरीद सकते है। आप समय के साथ बड़े वाहन खरीदने में सक्षम हो जाएँगे। अगर आप एक टैक्सी बिजनेस चला रहे है तो आपके का इन्श्योरेसं कराना जरुरी होता है।

    • जरुरी इंश्योरेंस

    आजकल कार और किसी भी तरह का वाहन खरीदते समय इंश्योरेंस जरुरी हो गया है। आर आप बिजनेस में बिना इंश्योरेंस के वहां इस्तेमाल करते पाए जाते है तो आपको इसके लिए आपको जुर्माना देना पड़ेगा। इसके अलावा वाहन के खो जाने, चोरी हो जाने या दुर्घटना ग्रस्त हो जाने के बाद आपको इसका इंश्योरेंस नहीं मिलेगा और फिनांशियल लोस होगा।

    • ट्रैकिंग डिवाइस का इस्तेमाल

    अपने वाहन को चोरी से बचाने और गुम हुए वाहन को तलाश करने के लिए वाहनों के अन्दर जीपीएस ट्रेकिंग डिवाइस का इस्तेमाल होना आम हो गया है। इस सिस्टम को अपने वाहन में इंस्टाल करवाने पर क्राइम एक्टिविटी के समय आपके वाहन को ट्रैक किया जा सकता है और आपको आपका वाहन वापस मिल जाता है।

    7. ट्रांसपोर्ट बिजनेस के लिए जरुरी हायरिंग 

    अपने ट्रांसपोर्ट बिजनेस को बढाने के लिए आपको एक प्रोडक्टिव वर्कफोर्स की जरुरत पड़ती है। ट्रांसपोर्ट बिजनेस के लिए आपको इन स्पोर्टिंग स्टाफ की जरुरत पड़ेगी।

    • ड्राईवर
    •  क्लीनर
    •  मेनेजर
    •  अकोउटेंट
    •  रिसेप्शनिस्ट
    •  लीगल सपोर्ट टीम

    8. प्रमोशन और मार्केटिंग

    बिजनेस की मार्किट में अपनी पहचान बनाने केलिए मार्केटिंग एक बहुत ही जरुरी साधन बन गया है। कई बिजनेस और बिजनेस ओनर मार्केटिंग का उपयोग करके आपने गोल पूरे कर रहे है और अपनी वस्तुओं और सेवाओं को सही लोगों तक पहुंचा पाने में सफल हुए है।

    Transport Business  के अन्दर फ्री राइड, डिस्काउंट ऑन राइड, मंथली डिस्काउंट फॉर रेगुलर यूजर जैसे कई मार्केटिंग तरीकों को आपनाया जा रहा है। अपने बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए आपको सिनेमा हॉल, स्माल ऐड प्लेटफार्म, मेट्रो स्टेशन जैसे प्लेटफार्म को चुन सकते है।

    • मार्केटिंग के ऑनलाइन तरीके
    Transport Business Online Marketing Methods

    आजकल के समय में डिजिटल मार्केटिग के द्वारा अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग करना एक जरुरी साधन बन गया है। इस तकनीक का इस्तेमाल करके आप अपने टार्गेट कस्टमर्स तक पहुँच सकते है। नीचे ऑनलाइन मार्केटिंग के कुछ तरीके दिए गए है जिनको आप अपना सकते है।

    • वेबसाइट
    • सोशल मीडिया मार्केटिंग
    • ईमेल मार्केटिंग
    • व्हाट्सऐप मार्केटिंग
    • पेड एड
    • इन्फ्लुएंसर मार्केटिंग

    कुछ बेहतरीन Transport Business Ideas की जानकारी 

    Types of Transport Business ideas

    अगर आप कंफ्यूज है कि कौनसा ट्रांसपोर्ट बिजनेस अपनाया जा सकता है तो चिंता की कोई बात नहीं है, नीचे लिखें कुछ बिजनेस आईडिया आपके लिए बेहतर हो सकते है।

    • कार शटल सर्विस
    • ऐप बेस ट्रेवल सर्विस
    • कर रेंटल सर्विस (इन स्टेशन और आउट स्टेशन)
    • ट्रेवल  एजेंसी
    • कुरियर सर्विस
    • लॉजिस्टिक्स सर्विस
    • एयर एंड मरीन ट्रांसपोर्ट सर्विस
    • ग्रोसरी/रॉ-मेटेरिअल डिलीवरी सर्विस
    • पैसेंजर बस (इन स्टेशन और आउट स्टेशन)
    • बस, टैक्सी और वैन सर्विस (स्कूल के बच्चों के लिए)
    • बाइक और बाइसिकल रेंटल सर्विस
    • लाइवस्टॉक ट्रांसपोर्टेशन
    • हेल्थकेयर ट्रांसपोर्ट

    ट्रांसपोर्ट बिजनेस से जुड़े प्रश्न

    Q.1 ट्रांसपोर्ट का बिजनेस क्या होता है?

    किसी भी बिजनेस एक्टिविटी को ऑपरेट करने के लिए बिजनेस की विभिन्न जरूरतों को पूरा करने के लिए ट्रांसपोर्टेशन बिजनेस की जरुरत पड़ती है। इस सुविधा के माध्यम से जरुरी सामान को एक स्थान से दुसरे स्थान ले जाने में आसानी होती है।

    Q.2 ट्रांसपोर्ट बिजनेस से कैसे कमाई करें?

    ट्रांसपोर्ट बिजनेस से कमाई करने के लिए आप व्यक्रिगत स्तर पर या एक बिजनेस चला कर कमाई कर सकते है. अगर आपके पास अपना निजी कमर्शियल वाहन है तो आप उसके जरिये टैक्सी सर्विस दे सकते है। इसके अलावा बड़े वाहनों को सामान लोडिंग और बड़े कार्यों के लिए कंपनी के साथ जोड़ सकते है। ट्रांसपोर्ट का कई प्रकार से व्यावसायिक उपयोग किया जा सकता है।

    Q.3 ट्रांसपोर्ट का काम कैसे शुरू करें?

    ट्रांसपोर्ट का काम करने के लिए आपको सबसे पहले तय करना पड़ेगा की किस प्रकार का ट्रांसपोर्ट बिजनेस आप करना चाहते है। उसके बाद आपको एक वाहन खरीदना पड़ेगा जिसके जरिये आप व्यवसाय करना चाहते है। सरकार के नियम कानूनों के दायरे में लाइसेंस प्राप्त करना होगा। बड़े बिजनेस के लिए आपको वाहनों की संख्या बढ़ानी होगी।

    Q.4 भारत में ट्रांसपोर्ट बिजनेस का क्या भविष्य है ?

    भारत में ट्रांसपोर्ट बिजनेस धीरे धीरे इलेक्ट्रिक व्हीकल की तरफ शिफ्ट हो रहा है. भारत सरकार विभिन्न इंडस्ट्री में ई-मोबिलिटी को प्रमोट करने में लगी हुई है। इलेक्ट्रिक व्हीकल के चलते ट्रांसपोर्टेशन और विनिर्माण इकाइयों में क्लीन एनर्जी को बढ़ावा मिल रहा है। भविष्य में पारंपरिक इंधन पर निर्भरता कम होगी और उर्जा के ग्रीन स्त्रोत इस्तेमाल करने से प्रदुषण पर नियंत्रण होगा। 

    Conclusion

    ट्रांसपोर्ट बिजनेस की शुरुआत करना एक बेहतरीन आईडिया है, यदि आप ऊपर दिए गए निर्देशों का पालन करते है तो आप वास्तव में Transport Business में एक बड़े खिलाड़ी बन सकते है। हमने अपने आर्टिकल में ट्रांसपोर्ट बिजनेस प्लान से जुड़े हर एक संभव पहलु के बारे में विस्तार से जानकारी दी है।

    जिसमे हमने बताया है की कैसे Transport Business Ideas का चुनाव करके बिजनेस से संबधित मार्किट का ठीक से आकलन करना है। इस बिजनेस को शुरू करने के लिए एक बड़ी राशि के इन्वेस्टमेंट की भी जरुरत है।आप OneNDF  की मदद से बहुत ही प्रतियोगी ब्याज दरों और ऑफर के साथ Business Loan भी प्राप्त कर सकते है।

    Last Updated on 11 months

    Check Your Eligibility​

      Vishal Kumar

      Vishal is a content writer who writes articles on various topics and is currently working as a writer on loan, banking, and business related financial topics on LOANPANDIT website. Vishal works to explain financial concepts to the readers in a very simple way through his attractive and informative articles. Their goal is to empower people to make financial decisions.

      Latest News

      You cannot copy content of this page

      Take The First step Towards Your Goals: Apply for a Personal Loan

      ✅Minimum Documents    ✅No Collateral     ✅Instant Disbursal