loanpandit

Hotel खोलने के लिए Hotel Business Plan कैसे बनाये

hotel business plan

Check Your Eligibility​

    वर्तमान में यात्रा और पर्यटन क्षेत्र तेजी से बढ़ रहा है किसी भी देश की जीडीपी में पर्यटन का एक बहुत बड़ा योगदान होता है। दूर दराज से आने वाले पर्यटकों के लिए अच्छी हॉस्पिटैलिटी सर्विस उपलब्ध कराना बहुत ही जरुरी काम होता है। पर्यटन क्षेत्र में Hotel Business की मांग तेजी से बढ़ रही है।

    एक राज्य से दुसरे राज्य और एक देश से दुसरे देश में आये पर्यटक अच्छे होटल और अच्छी सुविधाओं की तलाश करते है। बिजनेस के नजरिये से होटल उद्योग में ग्रोथ बढ़ने और कमाई करने के बेहतर विकल्प है। लेकिन इसमें सफल होने के लिए आपको एक अच्छे Hotel Business Plan को डेवलप करना होगा।

    आज इस आर्टिकल में हम होटल बिजनेस के बारे में जानकारी लेकर आये है, जिसमे हम आपको होटल इंडस्ट्री के लिए बिजनेस प्लान तैयार करने की जानकारी देंगे। इस प्लान की मदद से आप अपना एक प्रभावकारी बिजनेस शरू कर सकते है और सफल हो सकते है।

    Hotel Business Plan के बारे में जानकारी

    hotel business plan full Information

    हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में होटल का बिजनेस एक उभरता बिजनेस है लेकिन इसे करना आम बात नही है क्योंकि इसमें हमेशा ही बड़े उद्योग के खिलाड़ियों का वर्चस्व रहा है। लेकिन एक अच्छी योजना और मेहनत के दम पर आप इस बिजनेस में सफल हो सकते है। आप होटल खोलने के लिए नीचे दिए गए बिजनेस प्लान को अपना कर शुरुआत कर सकते है।

    1. बिजनेस की रणनीति और गोल सेट करें 

    बिजनेस शुरू करने के लिए अपने Hotel Business Plan में एक रोड मैप विकसित करें। होटल बिजनेस शुरू करने से पहले यह तय करें कि आपके होटल में आने वाले पर्यटकों को आप क्या सुविधाएं देना चाहते है। अपने होटल की ब्रांडिंग के बारे में विचार करें और एक अच्छा सा नाम तय करें। होटल बिजनेस का एक गोल सेट करें और लक्ष्य को पाने के लिए अपनी योजनाओं पर लगातार काम करें। बिजनेस की रणनीति बनाने के अपनी योजना में आगे बताई गई जरुरी जानकारियों को शामिल करके उस पर एक्शन लें। 

    2. इंडस्ट्री रिसर्च करें

    अपना होटल बिजनेस शुरू करते समय अपने प्रतियोगी कम्पनियों का बारीकी से मूल्यांकन करें. उनका SWOT Analysis करें जिसमे आप उन कंपनियों की स्ट्रेंथ, वीकनेस और अपॉर्चुनिटी और फ्यूचर रिस्क जैसे फैक्टर्स का आकलन करें। इस रिसर्च से आपको यह अंदाजा लग जाएगा कि आपको किन बातों को अपनाना है और किन बातों को नहीं। अपनी रणनीति को इतना आसान बनाए कि कोई भी निवेशक आपके बिजनेस की योजनाओं को आसानी से समझ सके और उसे फंडिंग करने में सुविधा महसूस हो।

    3. फाइनेंशियल बजट बनाये

    Financial budget for hotel business plan

    नए बिजनेस की शुरुआत करते समय उसपर आने वाले खर्चे का अनुमान लगाना एक बड़ा ही कठिन कार्य है। बहुत से बिजनेस ओनर शुरुआत में ही बिजनेस के आर्थिक खर्चों का गलत अनुमान लगा कर हार मान जाते है और अपना बिजनेस बीच में ही बंद कर देते है। इसलिए Hotel Business Plan में फिनांशियल प्रोजेक्शन ठीक से करनी चाहिए। होटल बिजनेस को शुरू करने में आने वाला खर्च निम्नलिखित है।

    • स्टार्टिंग कॉस्ट – यह एक शुरूआती कीमत है जो आप अपना होटल बिजनेस शुरू करने के लिए इन्वेस्ट करते है. यह धनराशी आपको लोन देने वाली फाइनेंस कम्पनियों और बैंकों के माध्यम से प्राप्त होती है. इस कॉस्ट में इंश्योरेंस, डाउन पेमेंट, फर्नीचर आदि जैसे खर्चे शामिल होते है।
    • ऑपरेटिंग कॉस्ट – यह एक इस्टीमेट कॉस्ट होती है जो कि आपके होटल को चलाने और रोजाना के खर्चों को पूरा करने के लिए इस्तेमाल की जाती है इसमें आप कर्मचारियों का प्रबंधन, रेंट और उपकरणों की खरीद पर पैसा खर्च कर सकते है।
    • एक्सपेक्टेड इनकम – नए बिजनेस का कोई भी रेवेन्यु और प्रॉफिट नहीं होता इसलिए एक आम तौर पर अंदाजा लगा लिया जाता है कि इस्टीमेट कितनी कमाई आने वाले एक साल के अन्दर इस बिजनेस से होने वाली है। 
    • कैश फ्लो का प्रोजेक्शन – आपको यह अनुमान लगाना चाहिए कि शुरुआत के समय आपको कितने कैश की आवश्यकता होगी, साथ ही व्यवसाय से कितना कैश फ्लो होगा।
    •  बैलेंस शीट – एक बैलेंस शीट तैयार करें और अपनी संपत्ति, देनदारियों और इक्विटी की पहचान करें।

    4. Hotel Business Plan में शामिल करें फंडिंग की जानकारी 

    अगर आप चाहते है कि आपका खुद का एक होटल हो और हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में आपके बिजनेस का एक बड़ा नाम हो तो इसके लिए आपको एक बड़ी रकम की जरुरत पड़ेगी। आप निम्नलिखित माध्यमों से अपने बिजनेस के लिए फंड जुटा सकते है।

    • खुद की जमा राशि बिजनेस में इन्वेस्ट करें

    अपने बिजनेस में अपने द्वारा जमा की गई पूँजी का निवेश करना एक बहुत ही बेहतर और सुरक्षित आईडिया है। अगर आपके बैंक अकाउंट में आपके होटल बिजनेस को शुरू करने के लिए पर्याप्त धनराशी है तो आप उस पैसे को इन्वेस्ट करें और दूसरों से धन प्राप्त करने के झंझट से बचे।

    • बिजनेस लोन ले

    आप अपने होटल बिजनेस को सफलता से चलाने के लिए OneNDF से बिजनेस लोन भी ले सकते है। OneNDF के पास सभी प्रकार के बिजनेस को वित्तीय सहायता देने के लिए कई तरह के वित्तीय विकल्प मौजूद है जिनकी ब्याज दरें अन्य लोन विकल्पों की तुलना में काफी आकर्षक है। आप अपनी जरुरत का किसी भी तरह का लोन इस प्लेटफार्म के जरिये प्राप्त कर सकते है। 

    5. एक प्राइम लोकेशन को चुने

    Search Location for hotel business plan

    Hotel Business में लोकेशन और उसके आसपास का वातावरण बहुत ही महत्वपूर्ण रोल प्ले करता है। आपके होटल की लोकेशन जो भी हो आपको यह सुनिश्चित करना चाहिए कि यात्रियों वहाँ आसानी से पहुँच सके इसके अलावा उनकी जरूरतों को पूरा करने के लिए होटल के पास एक मार्किट उपब्ध हो।

    होटल की लोकेशन के विषय में एक बात का और ध्यान रखना चाहिए कि ज्यादा भीड़-भाड़ वाला इलाका भी इसके आसपास नहीं होना चाहिए. टूरिस्टों को आसपास आरामदायक और शांत माहौल ज्यादा पसंद आता है। आपको अपनी होटल की लोकेशन में इन चीजों को शामिल करना चाहिये:- पार्किंग स्पेस, रिजर्व वेटिंग एरिया, पास में मार्किट, गूगल मैप पर मौजूदगी।

    6. Hotel Business के लिए जरुरी लाइसेंस 

    होटल शुरू करने के लिए सरकार के द्वारा कई तरह की परमिशन और लाइसेंस लेने की जरुरत पड़ती है। जितना जल्दी संभव हो सके आपको अपने होटल के लिए सभी तरह की परमिशन और लाइसेंस ले लेने चाहिए। कुछ परमिट होटल शुरू करने से पहले भी लेने पड़ सकते है इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए. नीचे दी गई सूची में इन सबकी जानकारी है।

    • बिल्डिंग परमिट
    • फिरे सेफ्टी परमिट
    • पुलिस लाइसेंस होटल
    • हेल्थ ट्रेड लाइसेंस
    • बिज़नेस रजिस्ट्रेशन
    • इएसआई रजिस्ट्रेशन
    • पीएफ रजिस्ट्रेशन
    • बार लाइसेंस
    • एफ.एस.एस.ए.आई(FSSAI) लाइसेंस
    • जीएसटी रजिस्ट्रेशन
    • ईटिंग हाउस रजिस्ट्रेशन
    • लिफ्ट क्लीयरेंस लाइसेंस
    • म्यूजिक लाइसेंस
    • साईनेज लाइसेंस
    • सर्टिफिकेट ऑफ़ एनवायरनमेंट क्लीयरेंस

    7. होटल बिजनेस के लिए वर्किंग स्टाफ की हायरिंग

    जब हम बेस्ट कहते है तो उसका मतलब यह हुआ कि वर्किंग स्टाफ में ऐसे कर्मचारी हो जिन्होंने हॉस्पिटैलिटी क्षेत्र के बारे में पढ़ाई की हो और इस क्षेत्र में पहले कुछ अनुभव हासिल किया हुआ हो। इस प्रकार के कर्मचारी होटल सेक्टर से जुड़ी सारी जरुरी जानकारी ठीक से समझता होगा।

    आपका स्टाफ़ लोगों की नज़रों में आपकी सेवाओं और दृष्टिकोण का प्रतिनिधित्व करता है, इसलिए इससे समझौता न करें और अपने होटल की इमेज को बाज़ार में पॉपुलर बनाने के लिए बेस्ट स्टाफ हायर करें। होटल सेक्टर में मैनेजमेंट टीम इस सेक्टर की रीढ़ की हड्डी माना जाता है इसलिए एक अच्छी टीम आपके होटल बिजनेस को सुचारू रूप से चलाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

    होटल बिजनेस के लिए जरुरी स्टाफ:

    • फ्रंट ऑफिस मेनेजर 
    • जनरल मेनेजर 
    • हाउस कीपिंग वर्कर 
    • फूड एंड बेवरेज मेनेजर 
    • किचन स्टाफ, शेफ, वेटर 
    • जनरल एंड एडमिन स्टाफ
    • अकाउंट मेनेजर 
    • इवेंट कोर्डिनेटर 
    • मेंटेनेंस स्टाफ 
    • सिक्यूरिटी स्टाफ 

     8. मार्केटिंग और ब्रांडिंग

    Market and Branding for hotel business plan

    हॉस्पिटैलिटी सेक्टर से जुड़ा बिजनेस रोजाना बड़ा ही चुनौतीपूर्ण होता जा रहा है इसलिए Hotel Business Plan में एक अच्छी मार्केटिंग योजना की जानकारी होनी चाहिए। मार्केटिंग के जरिये आप अपने ब्रांड की इक सही इमेज लोगों के सामने रख सकते है। आपको अपने बिजनेस को बढ़ाने के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह के प्लेटफार्म का इस्तेमाल करना चाहिए। आपको अपने होतेल्का एक आसान नाम और एक सिंपल थीम अपनानी चाहिए।

    1. मार्केटिंग के ऑनलाइन साधन

    • सोशल मीडिया

    होटल लाइन से जुड़े बिजनेस में सोशल मीडिया की मौजूदगी होना बहुत ही जरुरी है यह आपके ब्रांड अवेयरनेस के लिए बहुत ही जरुरी फैक्टर है।

    • ब्लोग्स

    आपके बिजनेस की ऑनलाइन प्रतिष्ठा को बढ़ने के लिए ब्लॉग बहुत ही अच्छा साधन हो सकता है. इसके जरिये आप अपने बिजनेस से जुड़े डाटा का आकलन कर सकते है और उसके अनुसार अपने बिजनेस से जुडी सर्विसेज लोगों को अच्छे से दे सकते है।

    • वेबसाइट

    आपके बिजनेस की वेबसाइट मार्किट में आपके ब्रांड को प्रोफेशनल तरीके से प्रेजेंट करती है. इसके जरिये आप अपने कस्टमर को अपनी सर्विसेज की जानकारी ठीक से दे सकते है। सीके अलावा कस्टमर का ट्रस्ट आपके बिजनेस पर बढ़ता है।

    • ई-मेल मार्केटिंग

    इ मेल मार्केटिंग के जरिये आप अपने ग्राहकों से सीधे जुड़ सकते है। उन्हें अपने बिजनेस से जुड़े अपडेट और जानकारी भेज सकते है इसके आलावा कस्टमर की समस्या का समाधान भी इमेल के द्वारा किया जा सकता है।

    2. मार्केटिंग के ऑफलाइन साधन

    • फ़ूड इवेंट को होस्ट करना
    • फ़ूड ब्लोगर्स से संपर्क बढ़ाए
    • बिजनेस एरिया में पर्चे बंटवाए
    • बिलबोर्ड पर एडवरटाइज दें
    • न्यूजपेपर और टीवी पर ऐड दे
    • रेडियो के द्वारा ऐड

    9. कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट CRM का इस्तेमाल 

    सीआरएम सिस्टम कस्टमर के महत्वपूर्ण ग्राहक डेटा का कलेक्शन रखता है अपने Hotel Business Plan में CRM के इस्तेमाल से सम्बंधित जानकारी भी शामिल करें। यह आपके कस्टमर की बदलती हैबिट का रिकॉर्ड रखने के लिए रखने में मदद करता है, इसके इस्तेमाल से आप अपने कस्टमर को बेहतर सर्विस दे सकते है।

    सीआरएम क्यों कारगर है?

    कस्टमर से बेहतर रिलेशन बनाने और उन्हें बेहतर सर्विस देने के लिए यह बहुत ही उपयोगी होता है। कस्टमर की निम्नलिखित जानकारी इसमें स्टोर की जाती है।

    • कांटेक्ट डिटेल
    •  एक हफ्ते या एक महीने में कस्टमर की विजिट
    •  कस्टमर के पसंदीदा फ़ूड आइटम का रिकॉर्ड
    •  कस्टमर का औसत खर्चा

    10. होटल का उदघाटन

    • सॉफ्ट ओपनिंग होस्ट करें

    अपना होटल बिजनेस शुरू करने से पहले अगर आप एक अनौपचारिक ओपनिंग रख सकते है। इस तरह की ओपनिंग तब होती है जाब आपका होटल पूरी तरह से ऑपरेशनल नहीं होता आप कुछ लोगों की मौजूदगी में उसका सॉफ्ट ओपनिंग रखते है। कुछ ख़ास मेहमानों के द्वारा आपके होटल के बारे में रिव्यु रखे जाते है।

    • ऑफिशियल ग्रैंड ओपनिंग

    इस तरह की ओपनिंग में रेस्तरां के मुकाबले भव्य उद्घाटन पसंद करते हैं इसमें आये मेहमानों का का मनोरंजन किया जाता है। बड़े व्यापारी, वकील, पत्रकार, खान-पान के पारखी और अन्य बड़े होटल व्यवसायी इस ओपनिंग में शामिल होते है।

    यह सब पीआर आपके ब्रांड के बारे में बड़ा प्रचार करने के लिए किया जाता है और यह आम जनता में होटल जाने के लिए उत्सुकता पैदा करेगा।

    सोशल मीडिया और अन्य टीवी प्रभावितों से संपर्क करने की कोशिश न करें, यह आजकल लोगों के जीवन पर एक बड़ा प्रभाव डालता है, लोगों की नजरों में आपके होटल की छवि बनाने में भी जरूरी है। 

    Conclusion

    इस आर्टिकल में हमने बहुत ही बारीकी से Hotel Business Plan के बारे में चर्चा की है और हमने जाना कि एक होटल बिजनेस की शुरुआत करने के लिए एक बड़ी फंडिंग की आवश्यकता है इसके अलावा कुछ सरकारी लाइसेंस और परमिट की भी आवश्यकता है। Hotel Business स्टार्ट करने में अगर आपको फंडिंग की समस्या आती है तो आप किसी अन्य के साथ मिल कर इस बिजनेस को शुरू कर सकते है।

    साथ ही आप अपने बिजनेस के लिए OneNDF के माध्यम से प्रतियोगी ब्याज दरों पर लोन प्राप्त कर सकते है। होटल बिजनेस में अपने को स्थापित करने से पहले आपके लिए सबसे बेस्ट यह होगा कि आप इस बिजनेस से जुड़े जितने भी लाइसेंस और परमिट समय से पहले ले सकते है वो ले ले क्योंकि यह एक समय लेने वाला प्रोसेस है और आप अपने बिजनेस में इसके बजह से रुकावट नहीं चाहेंगे।

    होटल व्यवसाय से जुड़े कुछ प्रश्न

    Q.1 भारत में एक होटल शुरू करने में कितना खर्च आता है?

    भारत में एक होटल शुरू करने में कम से कम 40 लाख का खर्च आता है इसके अलावा यदि आप एक लग्जरी होटल शुरू कर रहे है तो इसमें कम से कम 5 करोड़ रूपये का इन्वेस्टमेंट आएगा।

    Q.2 होटल बिजनेस में प्रॉफिट मार्जिन क्या है?

    होटल बिजनेस में एक लाभकारी प्रॉफिट मार्जिन 10 से 20% के बीच माना जाता है वहीं 5% को कम माना जाता है।

    Q.3 होटल मालिक की मासिक आय कितनी है ?

    भारत में होटल मालिक आम तौर पर मासिक रूप से 5-6 लाख रुपये कमाते हैं।

    Q.4 5 स्टार होटल का मतलब क्या होता है?

    फाइव स्टार होटल नॉर्मल होटल से बिक्लुल अलग होते है. इन होटल में कस्टमर की अच्छी सुविधाएँ प्रदान की जाती है। इसमें मल्टी क्लास सुविधाएं हर कस्टमर को दी जाती है। कमरों की गुणवत्ता अच्छी होती है उनमे साफ़ सफाई का बहुत अच्छे से ध्यान रखा जाता है। खाने पीने की सुविधाएँ बहुत अच्छी होती है।

    Last Updated on 11 months

    Check Your Eligibility​

      Vishal Kumar

      Vishal is a content writer who writes articles on various topics and is currently working as a writer on loan, banking, and business related financial topics on LOANPANDIT website. Vishal works to explain financial concepts to the readers in a very simple way through his attractive and informative articles. Their goal is to empower people to make financial decisions.

      Latest News

      You cannot copy content of this page

      Take The First step Towards Your Goals: Apply for a Personal Loan

      ✅Minimum Documents    ✅No Collateral     ✅Instant Disbursal